तमिलनाडु की सांस्कृतिक विरासत से अब पूरब के लोग भी रूबरू होंगे। इसके लिए भारत सरकार की ओर से एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत ‘तमिल समागम’ का आयोजन किया जाएगा।