अनुवादक, पत्रकार, वकील, डॉक्टर से लेकर रेस्तरांकर्मी और ड्राइवर जैसे जिन दो दर्जन क्षेत्रों में रोबोटों के काबिज होने की भविष्यवाणी थी, उनमें इंसान तकनीक पर बखूबी जीत दर्ज कर रहा है।