बौद्ध धर्मगुरु और 14वें दलाईलामा ने कहा कि वे अभी 20 वर्ष और जीएंगे। बुद्ध दर्शन से सभी को अपने जीवन में उस संतुष्टि को प्राप्त करना चाहिए, जिससे हम अपने अंतिम समय में किसी पछतावे में न रहें।