कपूरथला:- दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से आश्रम कपूरथला में तीज पर्व के उपलक्ष्य पर एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम संस्थान के महिला सशक्तिकरण एवं लिंग समानता कार्यक्रम 'संतुलन' के अंतर्गत आयोजित किया गया।कार्यक्रम का शुभ प्रारंभ साध्वी गुरप्रीत भारती जी,साध्वी रूपेश्वरी भारती जी सहित शहर के गणमान्य अतिथि श्रीमती कुलवंत कौर मेयर,डा अनूप रत्न सहायक सिविल सर्जन , डा शायला भोला उप चिकित्सा आयुक्त, श्रीमती आशा भोला जी, श्रीमती सविता चौधरी निगम पार्षद ,श्रीमति नरिंदरजीत कौर निगम पार्षद, श्रीमती सविता अग्रवाल पूर्व निगम पार्षद, श्रीमती रिम्पी शर्मा समाज सेविका,श्रीमती कुसुम पसरीचा , श्रीमती आभा नंद जी ने दीप प्रज्वलित करके की। सभी को सम्बोधित करते हुए संस्थान के संस्थापक श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी सुश्री रुपेश्वरी भारती जी ने बताया कि सावन के महीने में मनाया जाने वाला तीज का त्योहार अलग अलग राज्यों में मनाया जाता है।


 इसका सम्बंध बेटियों और महिलाओं से है। उन्होंने कहा कि आज जो कार्यक्रम आयोजित किया गया है इसका उद्देश्य वर्तमान समाज को बेटियों के महत्व के प्रति जागरूक और जाग्रत करना है। हमारी भारतीय संस्कृति में नारी का स्थान बहुत ऊंचा रहा है। विद्या का आदर्श सरस्वती मे, धन का लक्ष्मी मे, पराक्रम का दुर्गा में और पवित्रता का आदर्श गंगा में पाया जाता है। यदि हम इतिहास में देखें तो वैदिक काल से लेकर वर्तमान समय तक नारी ने , देश की बेटियों ने बहुत से कीर्तिमान स्थापित किए हैं। वास्तव में नारी के बिना एक सम्पन्न समाज की कल्पना भी नहीं की जा सकती। 
लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि नारी आज उत्पीड़न और हिंसा का शिकार होती है। कन्या भ्रूण हत्या जैसी कुरीतियाँ समाज में हैं। नारी तो शक्ति स्वरूपा है। साध्वी जी ने कहा कि आज सही मायने में यदि नारी को सशक्त बनना है तो उसे अपने भीतर की शक्ति को जानना होगा और उससे जुड़ना होगा। यह अध्यात्म ज्ञान द्वारा ही सम्भव है। जब नारी के भीतर स्थित सुषुप्त शक्ति का जागरण एवं प्रकटीकरण होता है तो यही वास्तव में महिला सशक्तिकरण है। कोई तत्ववेत्ता सतगुरु हमें ब्रह्म ज्ञान देकर उस भीतरी आत्मिक शक्ति से अवगत करवाते हैं। इस समारोह में युवतियों और महिलाओं ने नृत्य,नाट्य कला, कोरयोग्राफी आदि रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए। गिद्दा एवं झूले झूलकर तीज का त्योहार मनाया और अपनी खुशी का इजहार किया। कार्यक्रम में उपस्थित बहनों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति भी जागरूक किया गया। शाखा प्रमुख साध्वी गुरप्रीत भारती जी ने हजारों की गिनती में उपस्थित श्रोताओं का धन्यवाद किया। कार्यक्रम के समापन पर सभी के लिए खीर पुए का प्रसाद एवं लंगर का वितरण किया गया।