आज का शब्द: कन्हैया और भारत भूषण की रचना- मेरी नींद चुराने वाले