*जालंधर डी सी को मांग पत्र सौंपते हुए किशनलाल शर्मा,विनीत शर्मा,अजमेर सिंह,जसवीर बग्गा अन्य*

जालंधर: 02/08/22:- पंजाब भर में गौं माता का अनादर होता देख आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच के प्रदेश अध्यक्ष किशनलाल शर्मा की अध्य्क्षता में जालंधर के डीसी को राज्यपाल के नाम एक मांग पत्र सौंप आम जनता से इकठा किया काऊ टैक्स कहा लगाया गया उसकी जांच के लिए कहा गया।इस अवसर पर किशनलाल शर्मा ने कहा कि भारतीय संस्कृति एवं सनातन धर्म मे गौं माता का विशेष स्थान है, हिंदू संस्कृति में गौं माता की पुजा करने का विधान है । इसलिए हमारा धर्म बनता है कि इसकी रक्षा करना ।

लेकिन पंजाब में पिछले कई सालों से गौं माता का अनादर देखने को मिल रहा है, सड़को पर गौं माता आवारा घूमती नजर आती है औऱ सड़को पर लगे कूड़े के ढेरों से गंदगी और प्लास्टिक खाती अक्सर नजर आती हैं ।औऱ कई असमाजिक तत्व इन गौं माता को पकड़ कर हत्या करके इसका मास बेच देते हैं और उस मास को दूसरे प्रान्तों में बेच देते हैं, इस तरह के मामले कई पकड़े गये औऱ मामला भी दर्ज है ।इस बुराई को रोकने के लिये साधु संतों और हिंदू संगठनों के आंदोलनों के बाद पंजाब सरकार में गौं हत्या और गौ माता की रक्षा के लिये कानून भी बनबाया औऱ गौं माता को प्रताड़ित करने वाले को भी सख्त सजा का हुक्म है ।औऱ तो औऱ गौं माता की रक्षा सुरक्षा के लिये कई बस्तुओं पर कर लगाया गया जो cow cess के नाम पर है, जिससे जो धन  COWCESS के नाम पर इकट्ठा होगा उससे गौं माता की रक्षा सुरक्षा हो, जिस कड़ी में पंजाब भर की नगर निगम के पास करोड़ों रुपये का TAX इकट्ठा हुआ है, लेकिन नगर निगम ने उस रुपये को ठीक तरीके से गौं माता के लिये इस्तेमाल नही किया । 
सड़को पर घूम रही घायल गौं माता इलाज न होने से मर जाती है, नगर निगम के भ्रष्टाचारी अफसर जो इस कार्य मे लगे हुए हैं बो कभी भी शहर में नही निकले की आवारा घूम रही गौं माता को गौं शाला तक पहुंचाया जाये या जो घायल है उसको इलाज के लिये हस्पताल पहुंचाया जाये। लेकिन बिडम्बना तो यह है कि नगर निगम के पास इलाज के लिये कोई पक्का इंतजाम ही नही है । नगर निगम के पशु चिकित्सा के डॉक्टर भी मुफ्त का बेतन ले रहे हैं ।अगर कोई गाय माता घायल अवस्था मे मिल जाये तो नगर निगम को फोन करते हैं या तो बो फोन को उठाते नही अगर उठा भी ले तो मौके पर नही पहुंचते जिससे गौं माता तड़फ तड़फ कर प्राण दे देती है ।
*जनता द्वारा गऊ माता के रख रखाव के लिए दिए टैक्स का दुरूपयोग करने वाले अधिकारियों पर ठोस कारवाही की जाए:किशनलाल शर्मा*

संस्था के सदस्यों द्वारा पंजाब के राज्यपाल को निम्न सुजाव देते हुई कहा
1-- गौ माता के इलाज के लिये अच्छे हस्पताल की व्यवस्था हो ।
2--नगर निगम के सम्बंधित अफसर शहर का दौरा लगा कर एक अभियान के तहत आवारा घूम रही गौं माता को गौं शाला तक पहुंचाया जाए ।
3--नगर निगम के पास गौं माता को पकड़ने के लिये lift vechical का इंतजाम करवाया जाये जिससे गौं माता को पकड़ते समय कोई चोट न लगें ।
4--जो गौ शाला को नगर निगम से सहायता जाती हैं उनको बोला जाये कि कोई समाजिक संस्था कोई गौं माता को सड़कों से उठा कर लेकर आती है उसको तुरंत ले।
5--नगर निगम के जो सम्बंधित अफसर है उनके फोन 24 घण्टे चालू हो और तुरंत फोन उठाते ही कारवाही करे जो अफसर इस  तरह कार्य नही करते उनके ऊपर कानून के मुताबिक सख्त से सख्त action ले, अगर गौं माता प्राण छोड़ देती है जिसमें अफसर की गलती है उस पर हत्या का case दर्ज हो ।
6--जो लोग अपनी उन गौं माता को सड़कों पर छोड़ देते हैं जो दूध देने के योग्य न हो उसकी कोई योजना बना कर उन पर भी सख्त कार्यवाही हो ।

इस अवसर पर विनीत शर्मा,अजमेर सिंह बादल,धर्मपाल, जसवीर बग्गा,परमजीत सिंह,देवकीनंदन ठुकराल अन्य मौजूद रहे।