जालंधर :-दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से राखी के शुभ पर्व पर बिधिपुर आश्रम में सत्संग कार्यक्रम के दौरान भक्तों श्रद्धालुओं को 500 पौधे बांटे गए। जिसमें नीम, सुखचैन ,जामुन आदि छायादार पौधे दिए गए। संस्थान के संस्थापक श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी पल्लवी भारती जी ने अपने विचारों में कहा कि पर्यावरण में बढ़ रहा प्रदूषण मानव जीवन के लिए खतरे की घंटी है । इसलिए इससे बढ़ रहे प्रदूषण की रोकथाम के लिए हमें अधिक से अधिक पौधे लगाने चाहिए । साध्वी जी ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण प्रत्येक मानव का दायित्व है इसलिए हमें सभी को पर्यावरण के संरक्षण में अपना सहयोग देना चाहिए हमें केवल पौधे लगाने की औपचारिकता नहीं करनी चाहिए बल्कि उसकी देखभाल भी करनी चाहिए।
पर्यावरण, जिससे चारों तरफ से संपूर्ण ब्रहाण्ड और जीव जगत घिरा हुआ है। अर्थात जो हमारे चारों ओर है वही पर्यावरण है। पर्यावरण पर मनुष्य ही नहीं, बल्कि सभी जीव-जंतु, पेड़-पौधे, प्राकृतिक वनस्पतियां आदि पूरी तरह निर्भर हैं।


पर्यावरण के बिना जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती हैं, क्योंकि पर्यावरण ही पृथ्वी पर एक मात्र जीवन के आस्तित्व का आधार है। एक शांतिपूर्ण और स्वस्थ जीवन जीने के लिए एक स्वच्छ वातावरण बहुत जरूरी है लेकिन पर्यावरण मनुष्यों की कुछ लापरवाही के कारण दिन ब दिन खराब हो रहा है।

“पर्यावरण की रक्षा, सब की सुरक्षा!”
पर्यावरण न सिर्फ जीवन को विकसित और पोषित करने में मद्द करता है, बल्कि पर्यावरण, जलवायु के संतुलन में मद्द करता है और मौसम चक्र को ठीक रखता है।