किसानों की बाकाया राशि 22 करोड़ रुपए का तुरंत भुगतान करने के निर्देश

संधर शुगर मिल फगवाड़ा के ऑडिट के हुक्म

चंडीगढ़, 18 जुलाई:-मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार राज्य के किसान भाईचारे के कल्याण के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है, जोकि पंजाब की आर्थिकता की रीढ़ की हड्डी हैं और उनके हितों की रक्षा के लिए सरकार कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। यह बात कृषि और किसान कल्याण मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने आज यहाँ पंजाब भवन में भारतीय किसान यूनियन (दोआबा) और संधर शुगर मिल, फगवाड़ा के प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये दोहराई।

गन्ना काश्तकारों को बकाया अदायगियाँ न करने पर मिल प्रबंधकों पर सख़्त रूख अपनाते हुये मंत्री ने विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट तौर पर हिदायत की कि किसानों की बकाया 72 करोड़ रुपए (पिछले तीन सालों से) की राशि में से भूना, हरियाणा में मिल की जायदाद को बेच कर 22 करोड़ रुपए की राशि की तुरंत अदायगी करना और किसानों के खातों में जमा करवाना यकीनी बनाया जाये।

इसके साथ ही मंत्री ने सभी पहलूओं को बारीकी से जाँच कर मिल का ऑडिट करवाने के हुक्म दिए। मंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और उन्होंने विभाग के अधिकारियों को हिदायत की कि मिल प्रबंधकों को 50 करोड़ रुपए की बकाया राशि अदा करने के लिए नोटिस जारी किया जाये, ऐसा न करने की सूरत में इस साल नवंबर तक मिल के कामकाज को बंद करना पड़ेगा।

इस मौके पर दूसरों के अलावा विशेष मुख्य सचिव सहकारिता रवनीत कौर, अतिरिक्त मुख्य सचिव कृषि और किसान कल्याण सरवजीत सिंह, डिवीजनल कमिश्नर जालंधर गुरप्रीत कौर सपरा, डीसी कपूरथला विशेष सारंगल, एडीसी फगवाड़ा नयन जस्सल और डायरैक्टर कृषि गुरविन्दर सिंह और फगवाड़ा मिल के जीएम बी. पी. वर्मा उपस्थित थे।