मत्तेवाड़ा जंगल को और हरा-भरा बनाने के लिए लगाए जाएंगे 80,000 से अधिक पौधे

आने वाली नसलों के लिए साफ़-सुथरा पर्यावरण सृजन करना हमारी जि़म्मेदारी, वन मंत्री
वन विभाग के अधिकारियों के साथ की अहम बैठक

चंडीगढ़, 15 जुलाई:-मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान द्वारा राज्य में वन अधीन क्षेत्रफल बढ़ाने और आने वाली नसलों के लिए एक साफ-सुथरा और सेहतमंद पर्यावरण सृजन करने के दृढ़ निश्चय को अमली जामा पहनाने के लिए पंजाब के वन मंत्री श्री लाल चंद कटारूचक्क ने आज मोहाली में सैक्टर 68 के वन भवन में विभाग के समूह अधिकारियों के साथ बैठक की।  
बैठक की अध्यक्षता करते हुए श्री कटारूचक्क ने इस बात पर ज़ोर दिया कि उपरोक्त मकसद को हासिल करने के लिए निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु पूरी निष्ठा से काम किया जाए। उन्होंने आगे कहा कि शहीद भगत सिंह हरियाली लहर के रूप में पंजाब सरकार द्वारा शुरू किए गए अलग तरह के प्रयास पर ख़ास ध्यान केंद्रित किया जाए, क्योंकि यह योजना पर्यावरण बचाने और राज्य को और हरा-भरा बनाने में एक मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि जहाँ तक मत्तेवाड़ा जंगल का सवाल है तो यह लुधियाना शहर के लिए फेफड़ों का काम करता है, इसलिए वन विभाग द्वारा यहाँ 80,115 पौधे लगाए जाएंगे, जिससे पर्यावरण और साफ़ एवं शुद्ध हो सके और हमारी आने वाली नसलों को एक अच्छे पर्यावरण में साँस लेने का मौका मिले।  
एक अहम पहलू पर ज़ोर देते हुए श्री कटारूचक्क ने कहा कि केवल पौधे लगाना ही काफ़ी नहीं बल्कि उनका सही ढग़ से संरक्षण करना भी बहुत ज़रूरी है, जिससे यह पौधे आगे जाकर छायादार वृक्षों का रूप धारण कर पर्यावरण के निखार में वृद्धि कर सकें। उन्होंने यह भी कहा कि समूह विभागीय कर्मचारियों को इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जी-जान से जुट जाने की ज़रूरत है, क्योंकि इसी आधार पर भविष्य निर्भर करता है। उन्होंने आगे बताया कि पौधे लगाने के लिए ऐसे स्थानों का चुनाव किया जाए जहाँ कि यह बिल्कुल सुरक्षित हों, जैसे कि स्कूल, अस्पताल और डिस्पैंसरियां आदि। विभाग के अफसरों को इस सम्बन्धी और अलग विचारों को सामने लाने की प्रेरणा देते हुए उन्होंने कहा कि विभाग की उपलब्धियों को ज़मीनी स्तर तक प्रचारित किए जाने की ज़रूरत है।  
मंत्री ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि फॉरेस्ट गार्डों को गाँवों में भेजा जाए, जिससे वह सरपंचों, पंचों और पंचायतों से संपर्क कर राज्य को अधिक से अधिक पौधे लगाकर हरा-भरा बनाने के इस मिशन में पूरा सहयोग दे सकें।  
इस मौके पर विभाग के अधिकारियों ने श्री कटारूचक्क को विभाग की विभिन्न योजनाओं जैसे कि कैंपा, ग्रीन इंडिया और शहीद भगत सिंह हरियाली लहर के भांति-भांति पहलूओं से बारीकी से अवगत करवाते हुए बताया कि हरियाली लहर की मज़बूती के लिए स्थानीय विधायकों का भी भरपूर सहयोग लिया जाएगा। उनकी ओर से मंत्री को यह भी आश्वासन दिया गया कि निर्धारित लक्ष्य अगस्त महीने तक पूरे कर लिए जाएंगे।  
इस मौके पर अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्त आयुक्त (वन एवं वन्य जीव) श्रीमति राजी पी. श्रीवास्तव, प्रधान मुख्य वन पाल (एच.ओ.एफ.एफ) श्री आर के. मिश्रा और श्री धरमिन्दर शर्मा, अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन पाल (प्रशासन) और समूह मंडलों से वन मंडल अफ़सर भी शामिल थे।