केंद्र सरकार को खुले दर्शन दीदार के लिए करतारपुर कॉरिडोर फिर से खोलने की अपील

पिछले साढ़े चार सालों में पंजाब में 1 लाख करोड़ रुपए का निवेश हुआ

चण्डीगढ़ /नई दिल्ली, 15 नवंबर:-दिल्ली के प्रदूषण के लिए पंजाब के किसानों को गलत तरीके से जि़म्मेदार ठहराने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) की निंदा करते हुए पंजाब के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री गुरकीरत सिंह ने आज कहा कि अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने अपनी छवि बचाने के लिए दूसरों के सिर दोष मढऩे की नीति अपनाई हुई है जो राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण पर काबू पाने में पूरी तरह असफल रही है।

श्री गुरकीरत सिंह, जो यहाँ प्रगति मैदान, नई दिल्ली में चल रहे इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर 2021 दौरान करवाए गए पंजाब दिवस समारोह में मुख्य मेहमान थे, ने केंद्र सरकार को करतारपुर कॉरिडोर फिर से खोलने की अपील भी की, जो कि कोविड-19 महामारी के चलते मार्च 2020 से बंद पड़ा है।

पंजाब में औद्योगिक विकास बारे बात करते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने कारोबार करने को आसान बनाने और पंजाब में औद्योगिक क्षेत्र के स्थिर विकास को यकीनी बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने राज्य में 1 लाख करोड़ रुपए से अधिक का निवेश लाया है, जिससे न सिफऱ् आर्थव्यवस्था को आवश्यक बढ़ावा मिला है बल्कि रोजग़ार भी पैदा हुआ है।

मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार ने हाल ही में 26 और 27 अक्तूबर को दो दिवसीय प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन करवाया था, जिस दौरान प्रसिद्ध उद्योगपतियों ने अपने कारोबार का विस्तार करने के लिए पंजाब में और अधिक निवेश करने की बात दोहराई।  

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने निवेशकों की सुविधा के लिए एक ही जगह पर संपर्क साधन के लिए ‘पंजाब ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टमेंट प्रोमोशन’ की स्थापना की है। नयी औद्योगिक नीति के अंतर्गत विस्तृत स्कीमों और कार्यशील दिशा-निर्देश लागू करने का एक मात्र उद्देश्य मुल्क में निवेशकों और कारोबार के लिए पंजाब को नंबर एक स्थान बनाना है। नयी नीति अधीन बदलाव के आठ मुख्य नुक्तों पर आधारित कई बड़े सुधारों को शामिल किया गया है जिनमें बुनियादी ढांचा, बिजली, कौशल, एम.एस.एम.ईज़, नया कारोबार चलाने और उद्यमिता, कारोबार को आसान बनाने, वित्तीय और ग़ैर-वित्तीय रियायतें और नीति शामिल हैं।

श्री गुरकीरत सिंह ने खुलासा किया कि निवेश पंजाब ने सिंगल विंडो पोर्टल प्रणाली लागू करने के लिए बिजऩेस फर्स्ट पोर्टल की शुरुआत कर दी है जिससे विभिन्न मंजूरियां एक ही जगह दी जा सकें जिसके निर्माण के लिए पर्मिट, वित्तीय रियायतें, प्रॉपर्टी टैक्स समेत प्रॉपर्टी का ऑनलाइन डाटा और ई-ऑक्शन के द्वारा ज़मीन अलॉट किया जाना शामिल है। श्रम विभाग के लिए केंद्रीय निरीक्षण प्रणाली को लागू कर दिया है। विवाद के जल्द हल के लिए लुधियाना में कमर्शियल अदालतें स्थापित की गई हैं।

मंत्री ने कहा कि मुख्य बुनियादी ढांचे और पंजाब सरकार की बड़ी पहलकदमियों की मौजूदगी स्वरूप निवेशकों के लिए पंजाब सबसे उपयुक्त स्थान बना। पंजाब में उच्च साक्षरता है और इसकी ज़मीन बहुत उपजाऊ है। भारत में पंजाब की संपर्क व्यवस्था सबसे बेहतरीन है। मौजूदा उद्योग /एम.एस.एम.ईज़ के लिए जि़ला स्तर पर स्थापित किये जाने वाली विशेष सिंगल विंडो फेसिलिटी की मुख्य विशेषताएं, 5 रुपए प्रति यूनिट की उचित दर (अगले पाँच सालों के लिए निर्धारित) पर मानक बिजली ने नये निवेशकों को आकर्षित किया है।

मुख्य मेहमान ने पंजाब पेवेलियन का भी दौरा किया जिसको आई.आई.टी.एफ.-2021 के विषय ‘आत्मनिर्भर भारत-सेल्फ रिलायंट इंडिया’ मुताबिक बनाया और सजाया गया है। इसके क्षेत्र का अग्रभाग, भव्य प्रवेश द्वार और डिस्प्ले के थीम एरिये का आकर्षण कारोबार को आसान बनाने के लिए पंजाब सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों को दर्शाता है।

‘पंजाब पेवेलियन’ के क्षेत्र को पंजाब सरकार की तरफ से मुहैया करवाई गई विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ उद्योग की तरक्की को दर्शाता हुआ बनाया गया है। मिल्कफैड के स्टॉल पर वेरका के उत्पाद और पी.एस.आई.ई.सी. का पंजाब फूलकारी का स्टॉल सबसे अधिक आकर्षित रहे। मार्कफैड ने अपनी 100 से अधिक वस्तुओं को प्रदर्शित किया जो दर्शकों के लिए आकर्षण का केंद्र थे। पंजाब बायोटेक्निोलॉजी इंकुबेटर के द्वारा सूचना और प्रौद्यौगिकी विभाग, पंजाब ऊर्जा विकास अथॉरिटी, पंजाब पर्यटन, पंजाब ऐग्रो इंडस्ट्रीज कार्पोरेशन, पंजाब कृषि यूनिवर्सिटी और गुरू अंगद देव वैटरनरी एंड एनिमल साईंसिज़ के स्टॉल आदि भी दर्शकों के लिए आकार्षण का केंद्र थे।

इस मौके पर एम्फी थियेटर में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन भी करवाया गया। मुख्य मेहमान की तरफ से शमा रौशन करके समारोह की शुरुआत करवाई गई।

इस मौके पर प्रमुख सचिव उद्योग और वाणिज्य श्री तेजवीर सिंह, पी.एस.आई.ई.सी. के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री कुमार अमित, पंजाब पेवेलियन के प्रशासक श्री जे.एस. रंधावा और पंजाब पेवेलियन के को-ऑर्डीनेटर श्री गुरप्रीत सिंह सहित अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।

प्रसिद्ध पंजाबी गायक लखविन्दर वडाली और कुलविन्दर बिल्ला ने अपनी दिलकश आवाज़ में गीत गाकर दर्शकों का मनोरंजन किया। पंजाबी गीतों की ताल पर दर्शक झूम उठे।