चंडीगढ़, 1 नवंबर:-राज्य में सिंचाई के लिए भूमिगत पाईप लाईन बिछाने के लिए किसानों को वित्तीय सहायता देने के मद्देनजऱ बाग़बानी, मृदा और जल संरक्षण मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने आज डायरैक्टर कृषि और किसान कल्याण, पंजाब को आर.के.वी.वाइ और सी.डी.पी. के अधीन सिंचाई के लिए भूमिगत पाईप लाईन बिछाने के लिए प्रवानित प्रोजेक्टों को तुरंत लागू करने के लिए चीफ़ कंजरवेटर आफ सुआइल, पंजाब को 10 करोड़ रुपए जारी करने के निर्देश दिए।

आज यहां एक उच्च-स्तरीय मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये उन्होंने अधिकारियों को कहा कि वह वित्त कमिशनर (कृषि) के द्वारा वित्त विभाग के विचार के लिए आरकेवीवाइ और सीडीपी फंडों को तुरंत जारी करने के लिए प्रस्ताव पेश करें। उन्होंने कहा कि मृदा और जल संरक्षण विभाग के प्रवानित प्रोजेक्टों के लिए बकाया फंड भी जल्द से जल्द जारी किये जाएंगे।
मंत्री ने हिदायत की कि राज्य में बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए आर.के.वी.वाइ. /सी.डी.पी. के अंतर्गत प्रवानित बाग़बानी प्रोजैक्ट को प्रमुख प्राथमिकता दी जाये और इसलिए ज़रुरी फंड बाग़बानी विभाग को जारी किये जाएँ।
राजेश वशिष्ट, चीफ़ कंजरवेटर आफ सुआइल, पंजाब ने मंत्री को बताया कि मृदा और जल संरक्षण विभाग 2007-08 से राज्य स्तरीय मंजूरी कमेटी(एसएलएससी) की तरफ से सिंचाई के लिए भूमिगत पाईप लाईन बिछाने सम्बन्धी विभिन्न प्रवानित प्रोजेक्टों को लागू करने के लिए किसानों को वित्तीय सहायता मुहैया करवा रहा है। उन्होंने आगे बताया कि कुल 103.36 करोड़ रुपए की राशि जारी की जानी है जिसमें आर.के.वी.वाई. के लिए 95.78 करोड़ रुपए और सीडीपी के लिए 7.58 करोड़ की राशि शामिल है