बाबा साहिब की महान विरासत का प्रसार करेगी यह यादगार - चन्नी

राज्य सरकार द्वारा कपूरथला में बनाए जाने वाले इस अजायब घर पर 150 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे
राज्य स्तरीय मैगा रोजग़ार मेले के अंतर्गत नौजवानों को नौकरी के सर्टिफिकेट बांटे


कपूरथला, 23 सितम्बर:-पंजाब के मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने आज कहा कि भारत रत्न बाबा साहिब डा. बी.आर. अम्बेडकर के नाम पर कपूरथला में बनाया जाने वाला अत्याधुनिक अजायब घर हमारी आने वाली पीढिय़ों के लिए बाबा साहिब की गौरवशाली विरासत का प्रचार करने वाला सिद्ध होगा।
    स्थानीय आई.के. गुजराल पंजाब तकनीकी यूनिवर्सिटी में इस म्युजिय़म का नींव पत्थर रखने और राज्य स्तरीय मैगा रोजग़ार मेले के मौके पर नौजवानों को नौकरी के सर्टिफिकेट बाँटने के बाद संबोधन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा इस गौरवशाली प्रोजैक्ट पर 150 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे और यह प्रोजैक्ट इस महान नेता के लिए एक विनम्र परन्तु उचित श्रद्धांजलि सिद्ध होगा। उन्होंने आगे कहा कि इस यादगार से बाबा साहिब, जिन्होंने गरीबों में अति गरीब वर्ग के कल्याण में अहम भूमिका निभाई, के जीवन और विचारधारा का प्रचार करने में बहुत मदद मिलेगी। स. चन्नी ने आगे कहा कि यह म्युजिय़म डा. अम्बेदकर के जीवन, कार्य और विचारधारा से सम्बन्धित विषय के तथ्यों का एक अनूठा सुमेल होगा।
    मुख्यमंत्री ने आगे बताया कि खूबसूरती से डिज़ाइन किये जाने वाले इस म्युजिय़म का दायरा 25 एकड़ क्षेत्रफल में फैला होगा और इसका निर्माण 150 करोड़ रुपए के निवेश से होगा। उन्होंने यह भी कहा कि इस म्युजिय़म को 5 गैलरियों में बांटा जायेगा जिनमें बाबा साहिब के जीवन, फलसफे, कार्य, निजी जि़ंदगी और विचारधारा के सामाजिक और आर्थिक प्रभाव को प्रदर्शित किया जायेगा। डा. अम्बेडकर को गरिमापूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए स. चन्नी ने उनको एक महान विद्वान, कानूनी मामलों के माहिर, अर्थशास्त्री, समाज सुधारक और कूटनीतिवान बताया।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्व के इतिहास में डा. अम्बेडकर महान शख्सियत थे। वह बहुत ही विनम्र परिवार से सबंधित थे परन्तु उनकी प्राप्तियों ने उनको विश्व नेता के तौर पर स्थापित किया। उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान डा. अम्बेडकर की मेहनत, समर्पण का नतीजा था और उन्होंने इसके द्वारा पूरी मानवता की नुमायंदगी की। उन्होंने कहा कि हमें डा. अम्बेडकर के जीवन से सीख लेनी चाहिए कि कैसे कठिन हालातों में भी शीर्ष स्थान हासिल किये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि बाबा साहिब द्वारा शिक्षा की महत्ता के बारे दिया गया संदेश भाग्य बदलने के समर्थ है।

    नव-नियुक्त नौजवानों को बधाई देते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि यह उनके लिए अच्छी शुरूआत है परन्तु उनको इतने से ही संतुष्ट नहीं हो जाना चाहिए बल्कि लगातार तरक्की की ओर लक्ष्ति होना चाहिए।
    उन्होंने कहा कि नौजवानों को पंजाब सरकार द्वारा नये पंजाब की सृजना के लिए सार्थक माहौल और सहायता पंजाब सरकार द्वारा प्रदान की जायेगी।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका एकमात्र मकसद पंजाब को खुशहाल बनाना है जिसके लिए उन्होंने भ्रष्टाचार मुक्त पंजाब के लिए नौजवानों को आगे आने का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और नौजवानों को इसलिए सक्रिय भूमिका निभानी पड़ेगी।
    उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से कपूरथला में डा. बी.आर अम्बेडकर मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट स्थापित करने का ऐलान किया। इसलिए इंडियन इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट अमृतसर की सहायता ली जायेगी। इसके इलावा उन्होंने स्कूल आफ अम्बेडकर थाटस और भारत रत्न डा.बी.आर. अम्बेडकर सैंटर फार रिर्सच की दोआबा में स्थापना का ऐलान किया। उन्होंने मैडीकल कालेज कपूरथला और होशियारपुर का नींव पत्थर जल्द रखने का ऐलान करते हुये कहा कि इनके काम में तेज़ी लाई जायेगी।
    उन्होंने कपूरथला शहर को विशेष तौर पर 10 करोड़ रुपए विकास कार्यों के लिए देने का ऐलान किया। इसके अलावा हाई टेंशन तारों को हटाने के लिए भी 4 करोड़ रुपए का ऐलान किया गया। इसके अलावा उन्होंने सुलतानपुर लोधी में आई.टी.आई. की स्थापना और इसी सैशन दौरान क्लासें शुरू करने के अलावा भुलत्थ में 10 करोड़ रुपए की लागत के साथ आई.टी.आई. की स्थापना का ऐलान किया।
    इससे पहले कपूरथला हलके से विधायक राणा गुरजीत सिंह ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री द्वारा अनेकों विकास प्रोजेक्टों के ऐलान का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि हमारे लिए यह गर्व की बात है कि कांग्रेस पार्टी की तरफ से स. चन्नी को मुख्यमंत्री नियुक्त करके डॉ. अम्बेडकर की सोच के अनुसार एस.सी. भाईचारे का सशक्तिकरण किया गया है।
    खडूर साहिब से लोकसभा मैंबर श्री जसबीर सिंह डिम्पा ने मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।
    इस मौके पर दूसरों के अलावा संसद मैंबर श्री जसबीर सिंह डिम्पा, चौधरी संतोख सिंह और मुहम्मद सद्दीक, विधायक राणा गुरजीत सिंह, श्री सुखपाल सिंह खैहरा, श्री नवतेज सिंह चीमा, डॉ. राज कुमार वेरका, श्री सुशील कुमार रिंकू, श्री रजिन्दर बेरी, चौधरी सुरिन्दर सिंह, श्री अवतार सिंह बावा हेनरी, श्री संतोख सिंह भलाईपुर, श्री बलविन्दर सिंह लाडी, चौधरी दर्शन लाल मंगूपुर, श्री अंगद सिंह, श्री बलविन्दर सिंह धालीवाल और डॉ. हरजोत कमल, पंजाब एग्रो इंडस्ट्रीज कापोरेशन के चेयरमैन श्री जोगिन्द्र सिंह मान, तकनीकी शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन श्री महेन्दर सिंह के पी, पंजाब हैल्थ सिस्टम कार्पोरेशन के चेयरमैन अश्विनी सेखड़ी, चेयरमैन अमरजीत सिंह टिक्का, नगर निगम जालंधर के मेयर श्री जगदीश राज राजा और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।