कर्मचारियों की तरफ से विधायक बेरी के घर की तरफ किया पैदल मार्च और सौंपा चेतावनी पत्र

जालंधर : ज्वाइंट एक्शन कमेटी की तरफ से पंजाब यु टी मुलाजिम तथा पेंशनर्स सांझा फ्रंट पंजाब के आह्वान पर सहकारिता भवन जालंधर में सुखजीत सिंह राज्य कन्वीनर की अगुवाई में रोष पूर्वक धरना दिया गया। सुख्जीत सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार कर्मचारियों की मांगों के प्रति टालमटोल की नीति अपना रही है, पर पंजाब के सारे मुलाजिम वर्ग ने यह ठान लिया है कि जब तक पुरानी पेंशन स्कीम, पे कमीशन और कच्चे मुलाजिमों को पक्का नहीं किया जाता तब तक सभी मुलाजिम संघर्ष करते रहेंगे।

वेद प्रकाश, तेजिंदर सिंह, तीरथ सिंह बांसी, प्यारा सिंह, सुभाष मट्टू, नरेश कुमार, पवन कुमार, हरिंदर दोसांझ, पुष्पेंद्र कुमार , कुलदीप सिंह कोड़ा, मीनाक्षी धीर, अमृतपाल कौर,  गुरजीत कौर शाहकोट ने  संयुक्त रूप में कहा कि सरकार के इस रवैया के कारण  कर्मचारियों में राज्य सरकार के प्रति बहुत भारी रोष देखने को मिल रहा है। सरकार की तरफ से लगातार की जा रही मीटिंग में कैबिनेट मंत्रियों के अड़ियल रवैया के कारण समुच्चय मुलाजिम वर्ग में सरकार के प्रति और ज्यादा गुस्सा पैदा हो गया। नेताओं ने कहा कि अगर पे कमिशन पुरानी पेंशन स्कीम तथा कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने पर फैसला  कर्मचारियों के हक में नहीं लिया जाता तो राज्य सरकार के खिलाफ संघर्ष और तेज हो जाएगा। अगर सरकार ने 

 कोई पुख्ता हल ना किया तो आने वाले विधानसभा सेशन में दूसरे दिन पंजाब के सभी मुलाजिम  पंजाब विधानसभा का घेराव करेंगे।

कर्मचारियों की तरफ से विधायक राजेंद्र बेरी के घर का घेराव किया गया तथा पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई और चेतावनी पत्र सौंपा गया।

इस मौके पर कृपाल सिंह, हरभजन सिंह, जोरावर सिंह, इंद्रजीत सिंह कोहली, संजीव सिंह खालसा, बलवीर सिंह, मनोहर लाल, बख्शीश सिंह, हरभजन सिंह, गणेश भगत, अमृतपाल कौर, आशा गुप्ता, सरबजीत कौर, राजेंद्र सिंह शर्मा, निर्मल सिंह हीरा, शिवकुमार तिवारी, गुरु कमल सिंह, संजीव कुमार, अमरीक सिंह गिल, नीलम, कुलविंदर कौर, जसविंदर कौर, प्रेमलता, बलजीत कुमार, सुरेंद्र रिंकू, विकास वर्मा, विक्रमजीत सिंह ,रवि कुमार, गुरप्रीत सिंह, गुरबचन सिंह, देवेंद्र कुमार समेत कई कर्मचारी मौजूद थे।