ज़मीन संबंधी लगाए गए दोष राजनीति से प्रेरित 

और अधिक शैडों के निर्माण से शहर को जल्द ही आवारा पशूओं की समस्या से मिलेगी निजात 

चंडीगढ़ /एस.ए.एस. नगर:-कुछ लोगों द्वारा गौशाला जैसे सामाजिक कार्यों का सियासीकरण करने की कोशिशों की निंदा करते हुए पंजाब के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने उन पर लगाए गए दोषों को पूरी तरह बेबुनियाद और निजी राजनैतिक हितों से प्रेरित करार दिया। उन्होंने कहा कि कोई मुद्दा न मिलने के कारण मोहाली के लोगों को उनके खि़लाफ़ भड़काने की कोशिश की गई है।

बाल गोपाल गौशाला वैलफेयर सोसायटी में एक प्रैस कान्फ़्रेंस में स. सिद्धू ने कहा कि यह ज़मीन पूरी तरह त्यागी गई गायों की देखभाल के लिए समर्पित है न कि व्यापारिक उद्देश्यों के लिए। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा “अगर कोई इसका उद्देश्य जानना चाहता है, तो वह यहाँ चल रही व्यापारिक गतिविधियों को देखने के लिए साइट पर जा सकता है।

राजनैतिक विरोधियों के दोषों पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा, “क्या हमने गौशाला बनाकर कोई गलती की है क्योंकि मैंने मोहाली के लोगों के साथ वादा किया था कि मैं इस शहर को आवारा पशुओं से मुक्त करूँगा जिससे सड़की दुर्घटनाओं की रोकथाम करके निर्दोष लोगों और जानवरों की कीमती जान बचाई जा सकेगी।

गाँव बलौंगी की गौशाला के सभी ट्रस्टी और पंचायत की हाज़िरी में उन्होंने बताया कि गौशाला के सभी ट्रस्टी प्रसिद्ध उद्योगपति और मोहाली के जाने-माने लोग हैं जिनका मुख्य उद्देश्य त्यागी गई गायों की भलाई और उनको आसरा देना है। 

इस अत्याधुनिक गौशाला की स्थापना के लिए अपने दृढ़ संकल्प का ज़िक्र करते हुए स. सिद्धू ने कहा कि हम यहाँ अत्याधुनिक सीमन लैबोरेटरी बनाने के लिए ठोस यत्न कर रहे हैं, जहाँ भ्रूण ट्रांसप्लांट के लिए शोध कार्य शुरू किया जायेगा जिससे यह यकीनी बनाया जा सके कि सिर्फ़ मादा बछड़ों का ही जन्म हो सके। उन्होंने कहा कि यह ज़मीन बिना प्रयोग के पड़ी थी और लोगों द्वारा इस पर कब्ज़ा किया जा रहा था परन्तु अब पंचायत लीज़ डीडज़ से आय प्राप्त कर रही है।

इस दौरान बाल गोपाल गौ बसेरा वैलफेयर सोसायटी के जनरल सचिव स. नरेश कांसल ने कहा कि वह अन्य ट्रस्टीयों के साथ पिछले 4 सालों से इलाके की आवारा और त्यागी गई गायों को बेहतर सुविधाएं और शरण मुहैया करवाने के लिए अथक मेहनत कर रहे हैं। वह पहले 2017-18 में नगर निगम गौशाला का प्रबंधन कर रहे थे परन्तु गायों को मुहैया करवाई गई जगह, सुविधाएं और ख़ुराक की कमी के कारण बहुत दुखी थे।

श्री कांसल ने कहा कि मोहाली वासी लगातार खुली जगह और आधुनिक सुविधाओं वाली गौशाला की माँग कर रहे हैं और उन्होंने ज़मीन लीज़ पर लेने में सहायता करने के लिए स्वास्थ्य मंत्री के साथ संपर्क किया और उनको इस सपने को हकीकत में बदलने के लिए सोसायटी का नेतृत्व करने का अनुरोध भी किया।

सोसायटी के ट्रस्टी श्री अनुराग अग्रवाल ने बताया कि गौशला बनाने के लिए अब तक 1 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया गया है। यह पैसा ट्रस्टी द्वारा दान किया गया है या लोगों से स्वेच्छापूर्वक दान द्वारा एकत्रित किया गया है। सोसायटी का उद्देश्य गरीबों के लिए एक डायग्नोस्टिक कम हैल्थ सेंटर और एक कम्युनिटी हॉल मुहैया करवाना है और ये सभी सुविधाएं मुफ़्त प्रदान की जाएंगी। इसका कुल बजट 5 करोड़ रुपए से अधिक होगा।

एक अन्य ट्रस्टी श्री संजीव गर्ग ने कहा कि कुछ बुरी सोच के लोगों द्वारा अपने राजनैतिक हितों की पूर्ति के लिए किये जाने वाले कार्यों के कारण सोसायटी को बहुत समस्या झेलनी पड़ती है।

इस मौके पर मोहाली के मेयर अमरजीत सिंह जीती सिद्धू, डिप्टी मेयर कुलजीत सिंह बेदी, मार्केट कमेटी खरड़ के चेयरमैन हरकेश चंद शर्मा मछली कलाँ और बहादुर सिंह सरपंच बलौंगी भी उपस्थित थे।