पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच की और से भारत माता के महान सपूत खुदीराम बोस जी का बलिदान दिवस बड़ी श्रद्धापूर्वक श्री गुरू गोबिंद सिंह एवेन्यू में मनाया गया।
 
खुदीराम बोसे जी के चित्र पर श्रद्धा के सुमन अर्पित करते हुए किशन लाल शर्मा,वनीत शर्मा,अजमेर सिंह बादल,मनोज दुग्गल व अन्य उपस्थित थे।

 जालंधर:-आज 11 अगस्त जालंधर में  पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच की और से भारत माता के महान सपूत खुदीराम बोस जी का बलिदान दिवस बड़ी श्रद्धापूर्वक श्री गुरु गोबिंद सिंह एवेन्यू लकी ऑयल कैरियर ऑफिस में मनाया गया।कार्यक्रम का शुभारम्भ देशभक्ति का गीत कैसे कैसे लाल बलिदान हो गए मिट मिट माटी पर महान हो गए पंडित मनीष शर्मा ने गाकर किया।

इस अवसर पर पंडित दीनदयाल स्मृति मंच के प्रधान किशनलाल शर्मा ने कहा की खुदीराम बोस पहले भारतीय क्रन्तिकारी थे जिनकी शाहदत ने पुरे देश में क्रांति की लहर पैदा करदी थी खुदीराम बोसे जी देश की आज़ादी के लिए मात्र 18 साल की उम्र में हस्ते हस्ते अपने वन्दे मातरम बोल कर अपने प्राणों की आहुति देदी थी और कहा की देश अपने इन क्रांतिकारियों के त्याग तपस्या और बलिदान को कभी भुला नहीं सकता।

इस अवसर पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच के जालंधर जिला अध्यक्ष बोबीन शर्मा ने कहा की खुदी राम बोस देश की जंगे आज़ादी के महान नायक थे।

 इस अवसर पर अजमेर सिंह बादल ने कहा की खुदीराम बोस इतिहास में हमेशा एक “अग्नि पुरुष” के नाम से जाने जाते है।

 इस अवसर पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच के जालंधर जिला अध्यक्ष बोबीन शर्मा,राकेश गुप्ता,अजमेर सिंह बादल,सरवन कुमार शर्मा,तरलोचन सिंह,डॉ वनीत शर्मा,एच एल शर्मा,गुरदेव सिंह देबी, रणवीर सिंह,अमरजीत सिंह चीमा,शिव कुमार दुग्गल आदि भरी संख्या में युवा उपस्तिथ थे