इतिहासकारों पर आधारित कंसैपट कमेटी द्वारा तैयार किये मसौदे को किया गया स्वीकृत

चंडीगढ़ 16 अगस्त :-रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि जी के जीवन इतिहास और शिक्षाओं को दर्शाता अत्याधुनिक महर्षि वाल्मीकि पैनोरमा (म्युजिय़म) जल्द ही बन कर लोकार्पण कर दिया जायेगा। इतिहासकारों पर आधारित कमेटी की तरफ से बनाऐ जाने वाले इस म्युजिय़म के कंसैपट को आज श्री चरनजीत सिंह चन्नी, सांस्कृतिक मामलों संबंधी मंत्री की अध्यक्षता अधीन हुई मीटिंग में मंज़ूर कर लिया गया।

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए श्री चरनजीत सिंह चन्नी ने बताया कि अमृतसर में श्री राम तीर्थ स्थल में बनने वाले इस विश्व प्रसिद्ध महर्षि वाल्मीकि पैनोरमा को स्थापित करने के लिए तकरीबन 25 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि वाल्मीकि भाईचारे की तरफ से लम्बे समय से यह माँग की जा रही थी कि रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि जी के इतिहास, जीवन और शिक्षाओं को दर्शाता अत्याधुनिक तकनीकों वाला एक म्युजिय़म बनाया जाये, जिससे विश्व को उनकी महान सख्शियत और अन्य शिक्षाओं के बारे पता लग सके। उन्होंने बताया कि आज बनने वाले इस म्युजिय़म के कंसैपट को मंज़ूर किये जाने के उपरांत अब जल्द ही इस म्युजिय़म को बनाऐ जाने के लिए टैंडर लगा दिए जाएंगे।

आज की इस मीटिंग में श्री संजय कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव सांस्कृतिक मामले विभाग, श्रीमती कंवलप्रीत बराड़ डायरैक्टर सांस्कृतिक मामले विभाग, श्री योगेश गुप्ता चीफ़ इंजीनियर सांस्कृतिक मामले विभाग, श्री भुपिन्दर सिंह चाना ऐक्सियन पंजाब हेरिटेज एंड टूरिज्म परमोशन बोर्ड समेत अन्य उच्च अधिकारी भी उपस्थित थे।