हीरो साईकल्स लिमिटेड लुधियाना ने 14 अप्रैल, 2021 से 100 एकड़ प्लॉट में उत्पादन शुरू किया 

पी.एस.टी.सी.एल. द्वारा 30 एकड़ में 400 के.वी.ए. सब-स्टेशन का किया जायेगा निर्माण

आदित्य बिरला ग्रुप और जे.के. पेपर लिमिटेड के लिए क्रमवार 61.38 एकड़ प्लॉट और 17 एकड़ प्लॉट किए अलॉट

चंडीगढ़, 8 अगस्त: -पंजाब के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री स. सुंदर शाम अरोड़ा ने आज कहा कि 378.77 एकड़ ज़मीन पर हाई-टेक साइकिल वैली की स्थापना से लुधियाना विश्व मानचित्र पर आ जायेगा क्योंकि साइकिल उद्योग की बड़ी कंपनियाँ यहाँ अपनी इकाईयाँ स्थापित कर रही हैं, जिससे नौजवानों के लिए रोजग़ार के मौके पैदा होंगे। 

खाका योजना, चेंज ऑफ लैंड यूज (सीएलयू), ई.आई.ए. नोटीफिकेशन के अधीन पर्यावरण संबंधी मंजूरी से रेरा को 378.77 एकड़ ज़मीन के पूरे हिस्से के लिए मंजूरी भी दी गई है। इस प्रोजैक्ट पर 365 करोड़ रुपए की लागत आयेगी।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार राज्य में ऐसे औद्योगिक प्रोजैक्ट स्थापित करने के लिए ठोस यत्न कर रही है जो वातावरण अनुकूल होने के साथ-साथ नौजवानों को रोजग़ार के मौके मुहैया करवाने के दोहरे उद्देश्य की पूर्ति करेंगे।

उन्होंने बताया कि हीरो साईकल्स लिमिटेड, लुधियाना को अपनी सहायक इकाई स्थापित करने के लिए दिसंबर, 2018 में 100 एकड़ प्लॉट अलॉट किया गया था, जिस पर हीरो साईकल्स लिमिटेड ने ज़रुरी निर्माण ढांचे के निर्माण के बाद अप्रैल, 2021 से पहले ही उत्पादन शुरू कर दिया है। 

इसके साथ ही आदित्य बिरला ग्रुप और जेके पेपर इंडस्ट्री को क्रमवार 61.38 एकड़ प्लॉट और 17 एकड़ प्लॉट अलॉट किया गया है। उन्होंने बताया कि पी.एस.टी.सी.एल. 30 एकड़ ज़मीन पर 400 केवीए का बिजली ग्रिड स्टेशन स्थापित करेगा, जिसके लिए पीएसटीसीएल ने विकास कार्य भी अपने हाथ में लिए हुए हैं।

उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री ने आगे कहा कि साइकिल वैली को 100 फुट चौड़ी 4 लेन और 8.3 किलोमीटर लम्बी बाहरी कंक्रीट सडक़ बनाकर चण्डीगढ़-लुधियाना राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ा गया है और इसको 14 अप्रैल, 2021 को जनता को समर्पित किया गया। 

जि़क्रयोग्य है कि साइकिल वैली का अंदरूनी विकास अर्थात 33 मीटर और 24 मीटर चौड़ी अंदरूनी कंक्रीट सडक़ें, स्टॉर्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम, सिवरेज कुलैक्शन सिस्टम और एफलूएंट कुलैकशन सिस्टम का निर्माण मुकम्मल हो चुका है और अन्य कार्य प्रगति अधीन हैं। साइकिल वैली का बुनियादी अंदरूनी विकास कार्य 28 फरवरी, 2022 तक पूरा हो जायेगा।