जालंधर : संविधान चौक के बीएमसी फ्लाईओवर की रिटेनिग वाल खिसकने और एप्रोच रोड में दरार आने के बाद अब शहर के सभी पुलों की तकनीकी जांच करवाई जाएगी। नगर निगम ने पुलों की जांच के लिए एनआइटी को पत्र लिखा है। नगर निगम कमिश्नर करनेश शर्मा ने कहा कि एनआइटी की एक्सपर्ट टीम की तरफ से अभी जांच का शेडयूल नहीं आया है। जांच के बाद ही सभी पुलों को रिपेयर करवाएंगे।


बीएमसी फ्लाईओवर में दरार आने के बाद निगम कमिश्नर ने बीएंडआर टीम से निगम की हद में आते खालसा कालेज फ्लाईओवर, डीएवी और मकसूदां फ्लाईओवर की जांच करवाई थी और अब एनआईटी एक्सपर्ट से जांच करवाएंगे। निगम कमिश्नर ने कहा पुलों पर लोगों की आवाजाही सुरक्षित रखने के लिए निगम उनकी मरम्मत भी करवाएगा। बीएमसी फ्लाईओवर का काम खत्म होने के बाद बाकी पुलों पर फोकस करेंगे। उन्होंने कहा कि निगम के इंजीनियरों ने अपने तौर पर जांच की है लेकिन तकनीकी रूप से कहां कमी है यह एनआईटी की जांच में ही पता चलेगा। पुलों की रिपेयर पर जो भी खर्च आएगा वह निगम वहन करेगा। निगम के इंजीनियरों ने की जांच, कहा-पुलों के जोड़ पर असर पड़ा, मरम्मत की जरूरतनगर निगम के इंजीनियरोंके मुताबिक डीएवी और मकसूदां फ्लाईओवर को तकनीकी रूप से रिपेयर की जरूरत है। सभी पुलों के जोड़ों पर असर पड़ा है। इससे पुल पर सस्पेंशन कमजोर हुई है और पुलों के रोड से जब कोई भी वाहन गुजरता है तो झटके लगते हैं। मकसूदां फ्लाईओवर की सड़क के निर्माण के लिए निगम ने 11.61 लाख का टेंडर भी लगा रखा है जो 12 मार्च यानि आज खुलेगा। हालांकि सड़क बनाने के काम में देरी हो सकती है क्योंकि निगम पहले एनआईटी की जांच करवाना चाहेगा ताकि सड़क निर्माण से पहले तकनीकी रिपेयर करवाई जा सके। -------

बीएमसी की रिटेनिग वाल की रिपेयर जारी, कूल रोड पर प्रभावित हो रहा ट्रैफिक

बीएमसी फ्लाईओवर की रिटेनिग वाल को रिपेयर करने का काम वीरवार को भी जारी रहा। फ्लाईओवर निर्माण कंपनी एसपी सिगला की टीम रिटेनिग वाल में खोल कर रही हैं ताकि इनमें मेटल की राड डाली जा सके। यह राड रिटेनिग वाल में सस्पेंशन का काम करेगी ताकि गाड़ियों का दबाव पड़ने पर रिटेनिग वाल अपने जगह से ना खिसके। रिपेयर के काम के चलते संविधान चौक से एपीजे कालेज रोड पर दूसरे दिन भी ट्रैफिक बंद रहा। इस कारण से बस स्टैंड की तरफ से आने वाले वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बस स्टैंड की तरफ आने वाली गाड़ियों के लिए कोई डायवर्जन नहीं दी

बस स्टैंड की तरफ से आने वाली गाड़ियों के लिए कहीं भी डायवर्जन नहीं दी गई है और ट्रैफिक लाइट पर पहुंचने पर ही वाहन चालक को आगे का रास्ता बंद होने का पता चलता है। इस कारण से यह इन वाहन चालकों के लिए यह फैसला लेना मुश्किल हो जाता है कि वह किस तरफ जाए। ट्रैफिक पुलिस के मुलाजिम यातायात को सुचारू करने के बजाय चालान काटने पर ही फोकस कर रहे हैं। कूल रोड पर वाहनों को रोक कर चालान काटे जा रहे हैं जिससे मुश्किल और बढ़ रही है। अगले 15 दिनों तक एपीजे की सर्विसलेन बंद रहेगी और इससे दबाव कूल रोड और नामदेव चौक रोड पर ही रहेगा। दरार के कारण फ्लाईओवर पहले ही एक महीने से बंद है।