स्प्राउट्स बहुत से लोगों के रोजाना के ब्रेकफास्ट का हिस्सा होता है. वैसे तो ज्यादातर लोग अंकुरित अनाज को कच्चा ही खाना पसंद करते हैं लेकिन कई बार इसकी वजह से फूड पॉयजनिंग का खतरा रहता है. इससे बचने के लिए क्या करें, यहां जानें.

स्प्राउट्स यानी अंकुरित अनाज फिर चाहे वह अंकुरित मूंग हो या अंकुरित चना आपने भी खूब खाया होगा, है ना! स्प्राउट्स (Sprouts) को न्यूट्रिशन का पावर हाउस कहा जाता है और इसलिए इन्हें अपने रोजाना की डाइट में शामिल करना आपकी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है. पाचन को बेहतर बनाने (Digestion) के साथ ही ब्लड शुगर लेवल में सुधार करने (Blood Sugar) और हार्ट डिजीज (Heart Disease) से बचाने में भी मदद कर सकता है अंकुरित अनाज. लेकिन कई बार स्प्राउट्स खाने की वजह से फूड पॉयजनिंग (Food Poisoning) के मामले में देखने को मिलते हैं. इस वजह से कई बार लोगों के मन में ये सवाल भी आता है कि क्या कच्चा स्प्राउट्स खाना सचमुच हेल्दी है?


अंकुरित अनाज खाना क्यों हेल्दी है?


जब हम किसी साबुत अनाज, दाल या बीन्स को कुछ घंटों के लिए या फिर कुछ दिनों के लिए पानी में भिगोकर छोड़ देते हैं तो वे अंकुरित (Sprouting) हो जाते हैं और उनमें छोटे-छोटे पौधे निकल आते हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स और न्यूट्रिसनिस्ट्स की मानें तो स्प्राउटिंग यानी अंकुरण की प्रक्रिया के बाद उस अनाज की न्यूट्रिशनल वैल्यू या पोषक तत्व की मात्रा बढ़ जाती है और साथ ही उसे पचाना भी आसान हो जाता है. साथ ही अंकुरित अनाज में एंटीऑक्सिडेंट्स और विटामिन डी समेत कई न्यूट्रिएंट्स की मात्रा बढ़ जाती है जिससे न सिर्फ शरीर को डीटॉक्स (Body Detox) करने में मदद मिलती है बल्कि यह सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद भी होता है.

कच्चे स्प्राउट्स में हो सकता है हानिकारक बैक्टीरिया


कई बार स्प्राउट्स खाने के बाद कुछ लोगों को पेट में दर्द होने लगता है या फूड पॉयजनिंग की दिक्कत हो जाती है. इसका कारण ये है कि कई बार अंकुरित होने की प्रक्रिया के दौरान उनमें ई.कोलाई (E.Coli) और सैल्मोनेला (Salmonella) जैसे हानिकारक बैक्टीरिया भी पनपने लगते हैं और जब आप कच्चा अंकुरित अनाज (Raw Sprouts) खाते हैं तो ये बैक्टीरिया पेट में जाकर बीमारियों का कारण बन सकते हैं. इसकी वजह से डायरिया, उल्टी और पेट में ऐंठन जैसी समस्याएं हो सकती हैं. 

स्प्राउट्स को उबाल कर खाएं


वैसे तो ज्यादातर लोग कच्चा अंकुरित अनाज ही खाते हैं लेकिन जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर हो, बच्चे, गर्भवती महिलाएं या बुजुर्गों को कच्चा स्प्राउट्स खाने से परहेज करना चाहिए. इसका सबसे अच्छा उपाय ये है कि आप स्प्राउट्स को उबालकर (Boiled Sprouts) या थोड़ा पकाकर खाएं (Cooked Sprouts). ऐसा करने से अंकुरित अनाज में मौजूद बैक्टीरिया मर जाएगा और आप बीमार पड़ने से बच जाएंगे.