अगर बिना किसी कारण के पैरों में दर्द, सूजन, सुन्नता आदि महसूस हो रही हो तो इन लक्षणों को हल्के में ना लें. ये किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकते हैं.

अक्सर हम अपने चेहरे, हाथ और शरीर के बाकी हिस्सों पर तो पूरा ध्यान देते हैं लेकिन पैरों की ओर हमारा ध्यान कम ही जाता है. शायद यही वजह है कि हम पैरों से जुड़े संकेतों और लक्षणों को अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं. लेकिन आपकी यही गलती किसी बड़ी बीमारी का संकेत हो सकती है. जी हां, पैरों में हो रही दिक्कतों के आधार पर किसी व्यक्ति की सेहत के बारे में काफी कुछ बताया जा सकता है. आपको जानकर हैरानी होगी कि पैरों से जुड़ी समस्याओं के भी स्पेशलिस्ट डॉक्टर होते हैं जिन्हें पोडियाट्रिस्ट (podiatrist) कहा जाता है. लेकिन आपके पैर आपकी सेहत के बारे में क्या बता रहे हैं इसे जानने के लिए डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं. आपको सिर्फ इन संकेतों को पहचानना है.


सेहत के बारे में क्या कहते हैं आपके पैर


1. पैरों की त्वचा का ड्राई होना- अगर आपका तलवा या पैरों की त्वचा बहुत अधिक ड्राई है, फट रही है, पपड़ीदार हो गई है तो यह थायरॉयड से जुड़ी बीमारी का संकेत हो सकता है. वैसे तो मौसम में सामान्य बदलाव की वजह से भी पैर और एड़ियां फट सकती हैं. लेकिन अगर फटी एड़ियों के साथ ही आपको खुद में वजन बढ़ने, हाथों में सुन्नता महसूस होने और देखने में परेशानी जैसे लक्षण नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं.

2. पैर का बार-बार सुन्न होना- पैरों में बार-बार सुन्नता महसूस होने का सबसे बड़ा कारण ये है कि वहां पर खून का सही तरीके से संचार नहीं हो पा रहा है और ये पेरिफेरल आरट्रियल डिजीज (पीएडी) के कारण भी हो सकता है. अगर बार-बार पैरों में सुन्नता महसूस हो रही हो तो इस संकेत को नजरअंदाज न करें ये टाइप 2 डायबिटीज की वजह से होने वाले पेरिफेरल न्यूरोपैथी का भी लक्षण हो सकता है.

3. पैर के नाखून में काले धब्बे दिखना- अगर आपके पैर की उंगली कहीं दब जाए या कोई भारी चीज पैर पर गिर जाए तो नाखून में काले धब्बे आना सामान्य सी बात है लेकिन बिना किसी चोट के पैर की उंगलियों के नाखून में अगर कालापन आ जाए तो डॉक्टर से बात जरूर करें. यह मेलानोमा यानी स्किन कैंसर का संकेत हो सकता है. इसके अलावा पैर के नाखून का बदरंग होना फंगल इंफेक्शन का भी एक लक्षण है.

4. पैरों में सूजन रहना- गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के आखिरी दिनों में अक्सर पैरों में सूजन की समस्या रहती है. कई बार लंबी दूरी की यात्रा करने के बाद भी पैरों में सूजन हो जाती है लेकिन अगर बिना किसी वजह के पैरों में सूजन हो जाए तो लंबे समय तक ठीक ना हो तो इस लक्षण को गंभीरता से लें क्योंकि यह खून के प्रवाह से जुड़ी या ब्लड क्लॉट से जुड़ी किसी बीमारी का संकेत हो सकता है. इसके अलावा किडनी की बीमारी में भी पैरों में सूजन हो सकती है.

5. पैरों में दर्द रहना खासकर सुबह के समय- बहुत से लोगों को सुबह के समय बिस्तर से नीचे पैर रखते वक्त पैरों में तेज जलन जैसा दर्द महसूस होता है. इसके कई कारण हो सकते हैं. पहला है- आर्थराइटिस जिसमें जोड़ों में दर्द और जलन होने लगती है. इसके अलावा मांसपेशियों में खिंचाव या अकड़न की वजह से भी पैरों में दर्द हो सकता है. इसके अलावा अगर शरीर में पानी की कमी हो जाए तो इस कारण भी पैरों में जलन और दर्द महसूस हो सकता है.