आप अपनी डाइट में फलों को शामिल करते हैं तो कुछ ही दिनों में आपको अंतर दिखने लगेगा. 

आज के वक्त में ज्यादातर लोग मोटापे से परेशान हैं. सब लोग वजन कम करने की कोशिश करते हैं, लेकिन उनका वजन कम नहीं हो पाता. वजन बढ़ने का नकारात्मक असर सिर्फ शरीर पर ही नहीं, बल्कि दिमाग पर भी पड़ता है. किसी के लिए उल्टा-सीधा खानपान मुसीबत बन जाता है तो कोई बचपन से ही मोटापे का शिकार रहता है. ऐसे में अगर आप भी मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं तो हम आपको 3 चीजों के बारे में बता रहे हैं, जो वजन कम करने में आपकी मदद कर सकती हैं. 


इन तीन चीजों को करें फॉलो

प्रोस्टेट फूड का सेवन मोटापा को बढ़ावा देता है. इसलिए आपको साबुत अनाज का सेवन करना चाहिए. जितना हो सके नाश्ते में साबुत अनाज खाएं. क्योंकि साबुत अनाज में सभी न्यूट्रिशन पाए जाते हैं. उदाहरण के लिए आप बाजरा, रागी, मक्का और ज्वार को अपने नाश्ते में शामिल कर सकते हैं. इसके अलावा आप सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस खा सकते हैं. नाश्ते में दलिया खाना सेहतमंद होता है, ये वजन कम करने में भी मददगार है. 

जंक फूड से दूरी बनाएं

अगर आप मोटापे से परेशान हैं तो सबसे पहले जंक फूड से तौबा कीजिए. स्नैक फूड, फास्ट फूड और तले हुए कुकीज में ट्रांस फैट पाए जाते हैं. इसलिए जितना हो सके इनको खाने से बचें. कोशिश करें कि आप उबली हुई चीजें खाएं. जंक फूड की जगह आप अपनी डाइट में फलों को शामिल करते हैं तो कुछ ही दिनों में आपको अंतर दिखने लगेगा. 

खानें में रोज लें  सब्जी और फल

कुछ लोग मौसमी सब्जियों से किनारा कर लेते हैं. अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाएं, क्योंकि मौसमी सब्जियां शरीर के लिए बेहद फायदेमंद मानी जाती हैं. इसलिए कोशिश करें कि आपकी थाली में हर दिन कम से कम 2 मौसमी सब्जियां और 2 फल हों. इनसे बॉडी को विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सिडेंट के अलावा फाइबर्स भी मिलते हैं. हमें हर दिन लगभग 25-30 ग्राम फाइबर की जरूरत होती है. 

ग्रीन टी का करें इस्तेमाल

कमर को पतला करने के लिए ग्रीन टी का सेवन करना अच्छा माना जाता है. इसमें एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है, जो मोटापा व चर्बी घटाने में काफी मदद करता है. इसलिए दिन भर में कम से कम एक कप ग्रीन टी पीएं. इसके अलावा चर्बी को कम करने के लिए नींद का पूरा होना भी जरूरी है. इसलिए हर व्यक्ति को 7-8 घंटे की नींद लेनी चाहिए.

Disclaimer- इस आलेख में दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. हम इसकी पुष्टि नहीं करते. इन पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.