जालंधर में आने वाले 48 घंटे तक लोगों को ठंड का कहर झेलना होगा। कारण पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी तथा शीत लहर का असर सीधे रूप से मैदानी इलाकों पर पड़ने वाला है। ऐसे संकेत मौसम विभाग द्वारा आगामी 48 घंटों को लेकर दिए जा रहे हैं। वहीं, शनिवार को आसमान में बादल छाए रहने की भी संभावना जताई गई है।

मकर सक्रांति के बाद भी ठंड का कहर कम नहीं हुआ है। आमतौर पर मकर सक्रांति पर धूप खिलने के बाद तापमान में इजाफे का दौर शुरू हो जाता है। जबकि, इस बार ऐसा नहीं है। वीरवार को अधिकतम तापमान भी लुढ़क कर 14 डिग्री सेल्सियस तक रह गया था। हालांकि दोपहर के समय धूप खिलने के दौरान न्यूनतम तापमान 6 डिग्री का आंकड़ा छू लिया था।

वहीं, शुक्रवार को शीत लहर चलने के दौरान मौसम में ठंडक बनी रहेगी। इसके साथ ही तापमान में भी गिरावट होने की संभावना प्रबल है। इस बारे में मौसम विशेषज्ञ डॉक्टर विनीत शर्मा बताते हैं कि इन दिनों पड़ रही सर्दी से खुद की रक्षा करने के लिए स्वास्थ्य संबंधी की हिदायतों की पालना करनी चाहिए।