जालंधर:-♂ सेहतमंद जिंदगी के लिए एक फिक्स्ड रूटीन को फॉलो करना बेहद जरूरी होता है। इसमें खाने-पीने से लेकर सोने तक का टाइम बना हुआ रहता है। शरीर की कार्य प्रणाली ठीक बनी रहे, इसके लिए पर्याप्त नींद यानी गुड स्लीप बहुत अहम है। हालांकि, आज के समय में अधिकतर लोग न तो समय से खाते हैं और न ही उनके सोने का कोई टाइम फिक्स है।रात को देर से सोने से ज्यादातर लोगों को इस दौरान भूख भी लग जाती है, जिसे आम भाषा में ‘मिड नाईट क्रेविंग’ कहते हैं। लेकिन ये जानना बेहद जरूरी है कि ये आदत स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है। साथ ही, कुछ खाद्य पदार्थ नींद को भी नकारात्म रूप से प्रभावित करते हैं। ऐसे में सोने से पहले इनके सेवन से बचना चाहिए।

रात को देर से सोने से ज्यादातर लोगों को इस दौरान भूख भी लग जाती है, जिसे आम भाषा में ‘मिड नाईट क्रेविंग’ कहते हैं। लेकिन ये जानना बेहद जरूरी है कि ये आदत स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है। साथ ही, कुछ खाद्य पदार्थ नींद को भी नकारात्म रूप से प्रभावित करते हैं। ऐसे में सोने से पहले इनके सेवन से बचना चाहिए।

आइए जानते हैं कि न्यूट्रिशन एक्सपर्ट के अनुसार रात को सोने से पहले किन फूड आइटम्स का सेवन नहीं करना चाहिए –

क्रुसिफेरस सब्जियां: ब्रोकली, फूल गोभी और पत्ता गोभी जैसी सब्जियों में भरपूर फाइबर पाया जाता है जो कि सेहत के लिए अच्छी मानी जाती हैं। लेकिन रात को इनके सेवन से नींद में भी शरीर इसमें मौजूद फाइबर को पचाने का कार्य करने लगता है। ऐसे में इससे आपकी नींद तो प्रभावित होती ही है, साथ में पाचन संबंधी परेशानियां भी आपको जकड़ लेती हैं।

उच्च शर्करा वाले पदार्थ और आईस क्रीम: कई बार लोगों को रात को अचानक से आईस क्रीम खाने का मन कर सकता है। लेकिन ये आपकी नींद को बाधित कर सकती है क्योंकि इन्हें पचाने में भी ज्यादा समय लगता है। वहीं, केक, मिठाई और कैंडी जैसे हाई शुगर फूड्स आपके शरीर में एनर्जी को बढ़ाते हैं जिससे जल्दी नींद नहीं आती है।

शराब: लोग ऐसा मानते हैं कि शराब के नशे में व्यक्ति जल्दी सो सकता है, लेकिन बता दें कि पूरी नींद लेने के बावजूद जब आप सुबह उठेंगे तो आपको थकान महसूस होगा।

चाय-कॉफी: इन पेय पदार्थों में कैफीन की मात्रा अधिक होती है, ऐसे में सोने से पहले इनके सेवन से परहेज करना चाहिए। रात को इनके सेवन से आपको स्लीपलेसनेस यानी नींद की कमी हो सकती है। इसके साथ ही, चॉकलेट के सेवन से भी रात में बचना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि कैफीन के साथ ही इसमें अमीनो एसिड पाए जाते हैं जो आपको अलर्ट रखने में मदद करते हैं।

टमाटर और खट्टे फल: रात को सोने से पहले टमाटर खाना भी नुकसानदायक हो सकता है। इसमें टायरामाइन नामक अमीनो एसिड पाया जाता है जो दिमाग की कार्य क्षमता को बढ़ाता है। इससे जल्दी नींद नहीं आती है। वहीं, खट्टे फलों में विटामिन सी होता है जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माने गए हैं। लेकिन सोने से पहले इनके सेवन से कई बार ठीक से डाइजेस्ट नहीं हो पाते हैं। इस कारण एसिडिटी व सीने में जलन की परेशानी लोगों को होने लगती है।

इसके अलावा, सोने से पहले रेड मीट, क्युर्ड मीट और चीज़ के सेवन से भी बचना चाहिए। इनमें क्रमशः हाई प्रोटीन, अमीनो एसिड और फैट पाए जाते हैं। ये लोगों को अलर्ट करने का कार्य करते हैं, साथ ही इन्हें पचाने में भी समय लगता है।