जालंधर (P.S.Duggal) आज जालंधर में लोक इंसाफ पार्टी की ओर से साधु सिंह धर्म सोत द्वारा किए गए पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप घोटाले के संबंध में रोष मार्च निकाला जाना है । जिसको पुलिस द्वारा फिलहाल रोक दिया गया है । इस संबंध में लोक इंसाफ पार्टी के प्रधान सिमरजीत्त सिंह बैस ने बताया कि कांग्रेस सरकार जब से सत्ता में आई है उसने पंजाब के लोगों से धक्का ही किया है । करोडों रुपए का घोटाला उनके कैबिनेट मिनिस्टर ने किया हे उस पर भी सरकार चुप्पी साथे हुए है । बही दूसरी ओर तीन खेती आर्डिनेंस केंद्र सरकार द्धारा लाये जाने पर सिंमरजीत्त सिंह बैंस ने कहा कि यह मुद्दा सबसे पहले उनकी पार्टी द्वारा उठाया गया था । लेकिन अकाली दल और कांग्रेस सरकार किसानों से दोहरी राजनीति कर रही है एक तरफ कांग्रेस के मुख्यमंत्री ने 2017 में इस मुद्दे पर हस्ताक्षर किए थे ओर दूसरी ओर अकाली दल पहले इस मुद्दे पर केद्र सरकार के साथ था अब जब किसानों द्वारा आवाज उठाई गई है तो सुखबीर सिंह बादल इस मुद्दे को किसानों के खिलाफ बता रहे हैँ । विधायक सिमरजीत बैंस को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। वह लम्मा पिंड चौक पर जिला प्रधान जसवीर बग्गा के साथ चौक पर धरना देने आए थे। जैसै ही बैस वहां समर्थकों के साथ पहुंचे तो पुलिस भी बडी संरव्या में पहुंच गई । इसके बाद धरने वालों की घेराबंदी कर सभी को हिरासत में ले लिया गया। बैंस ने पोस्ट मैट्रिक स्कब्बलरशिंप घोटाले में नाम सामने आने के बाद मंत्री साधु सिंह धर्मसोत को बर्खास्त करने की मांग कर रहे थे। हिरासत मे लिए जाने से पहले विधायक बैंस ने कहा कि जब वरिष्ठ आई ऐ ऐस अधिकारी की 37 पेजों की रिपोर्ट में साधु सिंह धर्मस्रोत्त का नाम आ गया तो उन्हें बर्खास्त किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप में केंद्र का फंड आता है तो केद्र सरकार को सी बी आई जांच करानी चाहिए।
उन्होंने कहा कि वह पूरे पंजाब में जा रहे है और हर जगह उन्हें बहुत समर्थन मिल रहा है।  लोग खुद इस घोटाले के खिलाफ है और मंत्री कीं बर्खास्तगी की मांग को समर्थन दे रहे है। इसी लई वो जालंधर आए है। उन्होंनै कहा कि यहां भी वो पूरा शारीरिक दूरी के साथ अपना रोष व्यक्त करने आए है, लेकिन कांग्रेस सरकार पुलिस के बलबूते विरोधियों को दबाने की कोशिश कर रही है ।
विधायक बैस एवं उनके समर्थको ने लम्मा पिंड चौक, किशनपुरा चौक रेलवे स्टेशन की तरफ प्रदर्शन करना था । इसके बाद मदन फ्लोर मिल चौक, शास्त्री मार्केट, कंपनी बाग चौक व भगवान वाल्मीकि चौक की तरफ प्रदर्शन करने जाना था । इसका पता चलते ही ऐ सी पी ह्ररसिमरत्त सिंह व ऐ सी पी सुखविंदर सिंह की अगुवाही में वहां पहुंच गई और कहा कि लम्मा पिंड चौक के पास ही निपटा लें । उनकी मांग को प्रशासन सरकार तक पहुंचा देगा । इस बावजूद बैस एवं उनके समर्थन शहर की तरफ प्रदर्शन करने निकले तो पुलिस ने उन्हें हिरासत
में ले लिया।